Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

development

मुंबई | जुलाई 24, 2018
Photo : Dr. K.G. Sreeja and Dr. C.G. Madhusoodhanan, IIT Bombay

शहरीकरण का गाँव के प्राकृतिक ​संसाधनों पर बढ़ता दुष्प्रभाव!​​ प्राकृतिक संसाधनों और आजीविका में अप्रत्याशित परिवर्तन के साक्षी बनते शहरों की परिधि पर बसे गाँव।

General, Science, Society, Deep-dive
development की  सदस्यता लें!