Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

General

मुंबई | जून 1, 2020
सूखे दागों का विकोडन

सूखे रंग या जमा स्याही के आकार इन कोलॉइड में मौजूद कणों की एकाग्रता और आकार से संबंध रखते हैं

General, Science, Technology, Engineering, Deep-dive
बेंगलुरु | मई 19, 2020
ब्लैक होल की परछाई डार्क मैटर पर प्रकाश डाल सकती है

शोधकर्ता डार्क मैटर के कणों का ब्लैक होल की परछाईयों की वृद्धि पर प्रभाव की तहकीकात कर रहे हैं

General, Science, Deep-dive
करनाल | मई 18, 2020
आई.सी.ए.आर. के वैज्ञानिकों द्वारा गेहूँ की किस्म पहचानने के लिए दुनिया के पहले वेब आधारित उपकरण का विकास

लगभग 11,000 साल पहले, मध्यपूर्व के ‘फर्टाइल क्रिसेंट’ इलाके में किसानों को गेहूँ उगाते हुए एक अनोखी चुनौती से जूझना पड़ता था। पकने के बाद इस जंगली प्रजाति के खपली गेहूँ के दाने कटाई से पहले जमीन पर गिरकर बिखर जाते थे। अगले कुछ हज़ारों वर्षों तक किसानों ने सावधानीपूर्वक चुनकर कुछ पौधों की नस्ल को आगे बढ़ाया जिसके परिणामस्वरूप आज के उपजाए जाने वाले गेहूँ तक हम पहुँच पाये हैं। गेहूँ के दाने अब बड़े हो गए हैं, उनकी उपज बेहतर होती है, और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि ये पौधे कटाई तक पके हुए दानों को जकड़े रहते हैं। गेहूँ, चावल, और मकई जैसी फसलों के वर्षों तक चले चुनिंदा

General, Science, Technology, Deep-dive
धनबाद | मई 15, 2020
प्रकाश आधारित संवेदक के द्वारा रक्त शर्करा की निगरानी

एक नवीन अध्ययन के अंतर्गत भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (भारतीय खनि विद्यापीठ), धनबाद के शोधकर्ताओं ने रक्त में शर्करा की निगरानी हेतु एक प्रकाश आधारित रक्त शर्करा संवेदक विकसित किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि  यह रक्त-शर्करा (रक्त में स्थित ग्लूकोज की मात्रा) को १० से २०० मिग्रा की विस्तृत सीमा तक माप सकता है। एक स्वस्थ वयस्क के लिए खाली पेट की स्थिति में रक्त शर्करा का औसत स्तर ७० से १२० मिलीग्राम/डेसीलीटर तक होता है।

General, Science, Technology, Health, News
नई दिल्ली | मई 11, 2020
भारत में तापमान बढ़ने से फसल उत्पादन के लिए खतरा हो सकती है।

भारत में तापमान बढ़ने से फसल उत्पादन के लिए खतरा हो सकती है।

General, Science, Ecology, News
बेंगलुरु | मई 4, 2020
आँतों के बुरे बैक्टीरिया से लड़ने में प्रोटीन माइक्रोबिड्स का इस्तेमाल

मानवता युद्धों की गाथा के इतिहास की साक्षी रही है। हालाँकि, एक युद्ध ऐसा भी है जो रोज़ाना और लगातार होता रहता है – यह हमारे पाचक आँत में अच्छे और बुरे बैक्टीरिया के है!

General, Science, Health, Deep-dive
मुंबई | अप्रैल 21, 2020
देश में गिरते महिला कार्यबल पर एक अध्ययन

अध्ययन में पाया गया है कि भारत में युवा महिलाओं के पास अपनी माताओं की तुलना में बेहतर व्यवसाय नहीं हैं।

General, Science, Society, Policy, Deep-dive
मुंबई | अप्रैल 13, 2020
घातक कीटनाशक कार्बारिल का जीवाणु द्वारा निवारण

शोधकर्ताओं ने पता लगाया कि कैसे मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार करने वाला  स्यूडोमोनास नामक जीवाणु  कार्बारिल को हज़म कर जाता  है

General, Science, Technology, Engineering, Health, Society, Deep-dive
बेंगलुरु | मार्च 16, 2020
बाढ़ से लड़ने का 'एक्सपर्ट' तरीका

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने चेन्नई में बाढ़ का पूर्वानुमान लगाने के लिए एक प्रणाली डिज़ाइन की है।

General, Science, Technology, Engineering, Society, Policy, Deep-dive
मुंबई | मार्च 5, 2020
कार ,रेलगाड़ी ,बस या पैदल --मुंबई निवासी मॉल तक कैसे जाना पसंद करते हैं?

यह अध्ययन विश्लेषण करता है कि शॉपिंग मॉल तक जाने के लिए लोग किस प्रकार का परिवहन चुनते हैं?

General, Science, Society, Deep-dive
General की  सदस्यता लें!